Followers

30.3.21

कवि श्रीकृष्ण शर्मा का गीत - " उदास सुबह "

 यह गीत , श्रीकृष्ण शर्मा की पुस्तक - " बोल मेरे मौन " ( गीत - संग्रह ) से लिया गया है -














उदास सुबह 


मैंने सपने नहीं सजाये !!


जो भी हुआ , हुआ अनजाने ,

आँसू जो आँखों में आये !

मैंने सपने नहीं सजाये !!


जहाँ उदास सुबह बैठी थी ,

मैं जन्मा था उस आँगन में ,

किलकारी भरते अभाव थे ,

जहाँ गरीबी के दामन थे ;


कभी नहीं मन में आया था ,

कोई इस तम को उजराये ,


पर मैं बिखर गया जब तुमने ,

मेरे रिसते व्रण सहलाये !

मैंने सपने नहीं सजाये !!  **


            - श्रीकृष्ण शर्मा 


-------------------------------------------------------


संकलन – सुनील कुमार शर्मा , जवाहर नवोदय विद्यालय , जाट बड़ोदा , जिला – सवाई माधोपुर ( राजस्थान ) , फोन नम्बर – 9414771867.


2 comments:

  1. बहुत बहुत सुन्दर

    ReplyDelete
    Replies
    1. धन्यवाद आदरणीय आलोक सिन्हा जी |

      Delete

आपको यह पढ़ कर कैसा लगा | कृपया अपने विचार नीचे दिए हुए Enter your Comment में लिख कर प्रोत्साहित करने की कृपा करें | धन्यवाद |