19.9.20

कवि श्रीकृष्ण शर्मा का दोहा - " कविता का सिरमौर " ( भाग - 4 )

 श्रीकृष्ण शर्मा की पुस्तक - " मेरी छोटी आँजुरी " ( दोहा - सतसई ) से लिया गया है -




18.9.20

कवि श्रीकृष्ण शर्मा का दोहा - " कविता का सिरमौर " ( भाग - 2 )

 

श्रीकृष्ण शर्मा की पुस्तक - " मेरी छोटी आँजुरी " ( दोहा - सतसई ) से लिए गया है -




17.9.20

डॉ० अनिल चड्डा , सम्पादक - साहित्यसुधा - " आवश्यक सूचना "



मान्यवर,

यदि आप प्रकाशन के लिए अपनी रचना भेजना चाहते हैं तो मंगल यूनिकोड फॉन्ट में वर्ड में टाइप करके अपने परिचय 

और चित्र के साथ sahityasudha2016@gmail.com पर भेज सकते हैं। 

यदि आपने 'साहित्यसुधा' में प्रकाशन के लिए अपनी रचना भेजी है तो उसके लिए धन्यवाद। रचना की समीक्षा करने के बाद यदि यह उचित पाई जाएगी तो रचना को साहित्यसुधा में प्रकाशित कर दिया जायेगा जिसके प्रकाशन की सूचना आपको मेल द्वारा भेज दी जाएगी। कृपया ध्यान दें कि साहित्यसुधा माह में दो बार - 1 तारीख और 16 तारीख़ को प्रकाशित की जाती है। अत:, चाहे मेल प्राप्त हो या न हो, आप इन तारीखों को http://www.sahityasudha.com पर जा कर अपनी रचना देख सकते हैं

 यदि आप  अपनी रचना पहली बार भेज रहे हैं और आपने रचना के साथ अपना चित्र और परिचय नहीं भेजा है तो कृपया अपने चित्र के साथ यूनिकोड फॉण्ट में अपना परिचय भी अवश्य भेजे। जिन रचनाकारों ने पहले परिचय भेजा हुआ है, तो उन्हें फिर से परिचय भेजने की आवश्यकता नहीं है

कृपया ध्यान दें:-  यदि रचना/परिचय  यूनिकोड फॉण्ट में  नहीं है  तो उस  पर विचार करना मुश्किल हो सकता है। अत:, भेजने से पहले यह सुनिश्चित कर लें कि रचना मंगल यूनिकोड फॉण्ट में है 
धन्यवाद,


--

डॉ० अनिल चड्डा 
सम्पादक 
साहित्यसुधा

डॉ० अनिल चड्डा , सम्पादक - साहित्यसुधा - " साहित्यसुधा का सितम्बर(द्वितीय),2020 अंक "



मान्यवर,
 
‘सहित्यसुधा के प्रेमियों को यह  बताते हुए हर्ष हो रहा है कि साहित्यसुधा’ का सितम्बर(द्वितीय), 2020 अंक अब https://sahityasudha.com   पर उपलब्ध हो गया है। कृपया साहित्यसुधा की  वेबसाइट  पर जा कर साहित्य का आनंद उठायें। आपसे अनुरोध है कि इसमें प्रकाशित सामग्री पर अपनी प्रतिक्रिया अवश्य भेजें जिससे रचनाकारों को प्रोत्साहन मिलेगा। आपसे यह भी अनुरोध है कि आने वाले अंकों में प्रकाशन हेतु अपनी मौलिक रचनायें* भेजते रहें। रचनायें वर्ड में यूनिकोड फॉण्ट में टंकित होनी चाहियें । यह सुनिश्चित करने के लिये कि आपकी रचनायें साहित्यसुधा के आने वाले अंक में प्रकाशित हो जायें, कृपया माह के द्वितीय अंक के लिये 25 तारीख तक और प्रथम अंक के लिये 10 तारिख अपनी रचनायें अवश्य भेज दें इन तारीखों के बाद प्राप्त हुई रचनाओं पर समय और उपलब्ध स्थान के अनुसार ही विचार किया जायेगा।
 
यदि आप पहली बार रचना भेज रहे हैं और आपने अपना परिचय पहले नहीं भेजा हुआ है तो अपनी रचनाओं के साथ कृपया अपने चित्र के साथ अपना संक्षिप्त परिचय भी, जो वर्ड में यूनिकोड फॉण्ट में टंकित हो, भेजें।     
 
साहित्यसुधा’ को और लोकप्रिय बनाने के लिये और हिंदी साहित्य को अन्य रचनाकारों एवँ अपनी रचनाओं को अधिकाधिक लोगों तक पहुँचाने के लिये कृपया इसके लिंक को अपने मित्रों को भी भेजें और उसकी एक प्रति मुझे भी अग्रेषित कर दें ताकि आने वाले अंकों की जानकारी उन्हें सीधे पहुंचाई जा सके  आपसे यह भी अनुरोध है कि इसका प्रचार फेसबुक एवँ अन्य सोशल मीडिया पर भी करें ताकि आपकी और अन्य रचनाकारों की कृतियाँ अधिक से अधिक लोग पढ़ सकें ।
 
कृपया ध्यान दें:- 

(i) बार-बार अनुरोध करने पर भी यह पाया गया है कि रचनायें/परिचय यूनिकोड फॉण्ट के बजाय कृतिदेव फॉण्ट में भेजी जा रही हैं। इससे एक ओर तो इन रचनाओं को यूनिकोड फॉण्ट में परिवर्तित करने में बहुत समय लगता है और असुविधा होती है, साथ ही साथ उनमें बहुत सी त्रुटियाँ रह जाती हैं जिससे रचनाओं के अर्थ भी बदल सकते हैं। इसलिये कई रचनाओं को ‘सहित्यसुधा में प्रकाशित करना मुश्किल हो जाता है। अत:, आपसे अनुरोध है कि https://microsoft-indic-language-input-tool-conf.software.informer.com/download/ लिंक पर जा कर टूल डाउनलोड करें और फिर यूनिकोड फॉण्ट में टाइप करके अपनी रचनायें/परिचय भेजें।

(ii) रचनाकारों से यह अनुरोध भी है कि अपनी रचनाएँ मेल की बॉडी में न भेजें। इससे फोर्मेटिंग सही नहीं हो पाती है और रचना की खूबसूरती नहीं बन जिससे पढ़ने वालों को रचना में कोई रुचि नहीं रह जाती। अत: अपनी रचनाएँ अलग से वर्ड डॉकयुमेंट में टाइप करें और उसे मेल के साथ संलग्न करें।

(iii) परिचय/रचनाओं/साहित्य समाचारों के साथ भेजे गए चित्रों की लंबाई-चौड़ाई  250px X 250px होनी चाहिए।

 
धन्यवाद!
 
डॉ० अनिल चड्डा
सम्पादक
साहित्यसुधा

 
---------------------------------------------------------------------------


संकलन – सुनील कुमार शर्मा , जवाहर नवोदय विद्यालय , जाट बड़ोदा , जिला – सवाई माधोपुर ( राजस्थान ) , फोन नम्बर – 9414771867.

16.9.20

कवि संगीत कुमार वर्णबाल की कविता - " हिन्दी है हिन्दुस्तान की भाषा "














हिन्दी दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ   


हिन्दी है हिन्दुस्तान की भाषा


हिन्दी है हिन्दुस्तान की भाषा 
राष्ट्र की भाषा पहचान की भाषा 
जन -जन की भाषा गणतंत्र की भाषा 
साहित्य की भाषा साहित्यकार की भाषा 
आश और विश्वास की भाषा               
हिन्दी  तो है देश की भाषा 
पढ़ने की भाषा लिखने की भाषा 
गीत की भाषा संगीत की भाषा 
बोल की भाषा भरोस की भाषा
मातृभाषा वतन की भाषा 
कवियों की भाषा लेखक की भाषा 
सभी भाषाओं से प्यारी भाषा 
माँ की भाषा ममता की भाषा
सबके सम्मान सद्भाव की भाषा 
कलह दूर भगाती हिन्दी 
प्रेम पास लाती हिन्दी 
अपनो में विश्वास दिलाती हिन्दी 
संस्कार हमारी  संस्कृति हमारी 
पहचान हमारी  भाषा हिन्दी 
सब लोगों की भाषा प्यारी हिन्दी 
तुलसी कबीर संत महान 
सबने दी इसको पहचान 
कवि निराला, महादेवी वर्मा 
सबने किया हिन्दी का सम्मान 
अपनी लिपि अपनी भाषा
सबसे है सिर्फ एक आशा 
मिल-जुल कर करे प्रचार 
तब होगा मातृभाषा का प्रसार 
हिन्दी है हिन्दुस्तान की भाषा
राष्ट्र की भाषा पहचान की भाषा  **

                   - संगीत कुमार वर्णबाल 
                        जबलपुर 

--------------------------------------------------------------------------

संकलन – सुनील कुमार शर्मा , जवाहर नवोदय विद्यालय , जाट बड़ोदा , जिला – सवाई माधोपुर ( राजस्थान ) , फोन नम्बर – 9414771867.