Followers

29.11.20

कवि श्रीकृष्ण शर्मा का दोहा - " संग - साथ थे जो कभी " ( भाग - 8 )

 यह दोहा , श्रीकृष्ण शर्मा की पुस्तक - " मेरी छोटी आँजुरी " ( दोहा - सतसई ) से लिया गया है -






28.11.20

कवि श्रीकृष्ण शर्मा का नवगीत - " मैं खड़ा हूँ हारकर "

 यह नवगीत , श्रीकृष्ण शर्मा की पुस्तक - " एक अक्षर और " ( नवगीत - संग्रह ) से लिया गया है -












मैं खड़ा हूँ हार कर

 

भाग्यहीना यात्राओं ने कहाँ ला पटका ?

सामने मेरे खड़ा

चम्बल नदी – सा क्रुद्ध भरका |

     है कहाँ पितृव्य का आशीष वाला हाथ ,

     माँ की है कहाँ ममतामयी वह गोद ,

     जो दुख दर्द सहलाते कहाँ है अब

     प्रिया के वे प्रियंका नैन ?

उफ़ , कहीं कोई नहीं ,

जो दे तनिक आश्वस्ति ,

     लेकिन देह के नीचे

     अचानक एक ठण्डा और चिकना

     साँप – सा सरका |

     भाग्यहीना यात्राओं ने कहाँ ला पटका ?

लालसाएँ / तितलियों के पंख – सी

फेंकी समय ने नोंच

प्रेत – नख – तन और मन को

दे रहे हैं विष – भरे व्रण / नोंच और खरोंचे ,

 

     औ’ खड़ा मैं हार कर जैसे कि लम्बी जंग |

     अब होकर अपाहिज इस तरह

     जाऊँ , कहाँ जाऊँ

     ओह , बर्बर और खूनी

     व्याघ्र – जैसी दृष्टि से बच ?

दे सकेगी ज़िन्दगी

इस मौत को कब तक भला चरका ?

भाग्यहीना यात्राओं ने कहाँ ला पटका ? **


                 - श्रीकृष्ण शर्मा 

----------------------------------------------------------------------------


संकलन – सुनील कुमार शर्मा , जवाहर नवोदय विद्यालय , जाट बड़ोदा , जिला – सवाई माधोपुर ( राजस्थान ) , फोन नम्बर – 9414771867.


27.11.20

कवि श्रीकृष्ण शर्मा का दोहा - " संग - साथ थे जो कभी ( भाग - 7 )

 यह दोहा , श्रीकृष्ण शर्मा की पुस्तक - " मेरी छोटी अँजुरी ( दोहा - सतसई )  से लिया गया है -




26.11.20

कवि श्रीकृष्ण शर्मा - " जीवन परिचय " ( पुस्तक - अक्षरों के सेतु से )

 

जीवन परिचय

( इस जीवन परिचय को कवि की पुस्तक – “ अक्षरों के सेतु ( काव्य – संकलन ) से लिया गया है |  )



आत्मज : स्व. श्री प. फूल चन्द्र शर्मा

         एवं स्व. श्रीमती जावित्री देवी शर्मा

जन्म   : 17 अक्टूबर , 1933 ई.

         ( आगरा ) उ. प्र.

शिक्षा    : एम. ए. ( हिन्दी ) , बी. एड.

प्रकाशन  : * देश की प्रायः सभी प्रतिष्ठित पत्र – पत्रिकाओं में सन             1952 से कविता/गीत/ बालगीत आदि का प्रकाशन |  

     ·       आकाशवाणी के विभिन्न केन्द्रों से गीतों का           प्रसारण |

     ·        तेलगु और बँगला से हिन्दी में अनेक कविताओं       का रूपांतरण |

     ·       मरीचिका , त्रिकाल , ताज की छाया में , हिन्दी       के मनमोहक गीत , हिन्दी के सर्वश्रेष्ठ मुक्तक ,       स्पन्दन , सप्तपदी – 5 आदि समवेत काव्य –         संग्रहों में रचनाएँ संकलित |

     ·         आदिम जाति कल्याण विभाग , मध्यप्रदेश शासन के जिला छिन्दवाड़ा के समस्त हाई स्कूल और हायर सेकेण्डरी स्कूलों की संयुक्त वार्षिक पत्रिका ‘ चेतना ’ का 1985 से 1990 तक सम्पादन और प्रकाशन |

सम्मान : * साहित्य एवं हिन्दी – सेवा के लिए अनेक संस्थानों             द्वारा सम्मानित |  **

   

--------------------------------------------------------------------------


संकलन – सुनील कुमार शर्मा , जवाहर नवोदय विद्यालय , जाट बड़ोदा , जिला – सवाई माधोपुर ( राजस्थान ) , फोन नम्बर – 9414771867.


25.11.20

कवि श्रीकृष्ण शर्मा का दोहा - " संग - साथ थे जो कभी " ( भाग - 6 )

 यह दोहा , श्रीकृष्ण शर्मा की पुस्तक - " मेरी छोटी आँजुरी " ( दोहा - सतसई ) से लिया गया है -